Wednesday, October 19, 2016

Types of Server in Hindi,Server के प्रकार

(iv)Proxy Server
Proxy Server, Client Computer और Server Computer के बीच मे Intermediary Server की तरह काम करता है जिससे Client Computer की Real Identity को Network World मे Hide हो जाये|Proxy Server का Use आपको Hackers से बचाता है तो यह आपको Hack करने मे भी Help करता है |इसे आप ऐसे समझ सकते है की जैसे कोई Criminal कोई Crime Commit करने से पहले अपने चेहरे पर Mask लगा लेता है ताकि उसकी Real Identity  छुप जाये|


(v)DHCP Server
जब आप Internet चलाते है और Static IP Address के बदले Dynamic IP Address का Use करते है तो आपको प्रत्येक बार Internet से Connect होने के लिए एक नया IP Address प्रदान किया जाता है|यह IP Address तभी तक आपको Assign किया जाता है जब तक आप Internet से Connect रहते  है |जैसे ही आप Internet से Disconnect हो जाते है तो आपको दिया गया IP Address हो सकता है किसी और को दे दिया जाये |फिर आप जैसे ही दुबारा Internet से Connect होते है तो आपको एक नया IP दे दिया जाता है |तो हर बार Internet से Connect होने के लिए जो आपको IP Address मिलता है इसको Manage करने का काम DHCP Server करता है|
Generally जब आप Internet चलाने के लिए Dongle या Wireless Network का Use करते है तो हर बार Internet से Connect करने के आपको नया IP Address मिलता है तो ये नया IP Address देने का काम DHCP Server करता है |इस Type के IP Address को Dynamic IP Address कहते है|
Static IP Address थोरा Costly होता है |यह IP Address Change नहीं होता है |इस IP Address को प्राप्त करने के लिए आपको किसी Company के Internet Service Provider (ISP) से Connect करना परता है|यह IP Address तभी बदलता है जब आपका ISP चाहता हो|

(vi)Web Server
Web Server वह Server होता है जो HTTP (Hypertext Transfer Protocol) का Use कर Web Pages को Client के Request के आधार पर उसे Serve करता है |जिसे User का Web Browser उसे Receive कर User के सामने Render करता है|
जिस Computer System पर Web Server Software को Install किया जाता है उसी Computer को Web Server कहा जाता है|यह Computer Client Computer की Comparison मे काफी Powerful होता है क्योकि इसे लाखो Computer से आने वाली Request को समान समय पर पूरा करना परता है |फिर भी Web Server Software को हमेशा किसी High Configuration वाले Computer System पर Install करना जरूरी नहीं है इसे सामान्य Computer System पर भी Install कर सकते है|
Generally आप जिस Computer से Web Browser(Google Chrome, Mozilla Firefox, Internet Explorer, Safari, Opera) की सहायता से Web Pages का Request करते है उस Computer को Client Computer कहते है और जहा Web Page जिस Computer पर रखा हुआ है उसे Web Server कहते है|
अभी Present Time मे दो Web Server IIS और Apache सबसे ज्यादा उपयोग मे लिए जाते है|IIS ,Windows Operating System के लिए Microsoft Company द्वारा बनाया गया Web Server है जबकि Apache, Linux Operating System के लिया Develop किया गया Web Server है|




(vii)DNS Server
DNS Server , Domain Name जो Human Readable Form मे होता है  जैसे www.google.com, www.yahoo.com , www.bbc.com  etc को उसके Corresponding Numeric IP Address मे Translate करता है|
इसको थोरा ठीक से समझते है जैसे आपने अपने Browser मे www.google.com Type किया और Enter Press किया तो पहले ये Request DNS Server पर जाएगा और DNS Server इस www.google.com को उसके Corresponding IP Address 74.125.224.72 मे Convert कर देता है और फिर यह IP Address Web Server पर जाता है |



 Hacking को पूरी तरह अच्छे से सीखने के लिए Ethical Hacking Book in Hindi जरूर पढे




No comments:

Post a Comment